Menu

सुबह 4 बजे जल्दी उठने की आदत कैसे डालें, जानिये ये 10 तरीके

 

किसी भी क्षेत्र में सफलता प्राप्त करनें के लिए हम सबसे पहले एक लक्ष्य का निर्धारण करते है| इसके पश्चात अपनी बनायीं गयी योजना के अनुसार परिश्रम करते है| किसी भी छात्र के लिए सुबह उठनें की समस्या सबसे गंभीर होती है| हर किसी ने बचपन में  अपने बड़ों से सुना होगा कि सुबह जल्दी उठना चाहिए, क्योंकि सुबह जल्दी उठने के कई लाभ हैं|  सुबह के समय दिमाग काफी फ्रेश होता है, और सुबह जो भी पढ़ते है, वह लम्बे समय तक याद रहता है| सुबह जल्दी उठनें के लिए अधिकांश लोगों ने कई तरह के प्रयास भी किये होंगे, कुछ लोग अपने प्रयास में सफल भी हुए होंगे और कुछ असफल| दरअसल कुछ महत्वपूर्ण बातों को ध्यान में रखकर सुबह जल्दी उठने में सफलता प्राप्त की जा सकती है|

जब भी आप कभी सुबह जल्दी उठ जाते है, तो आपने भी खास तौर पर ध्यान दिया होगा कि आपके पास समय अधिक होता है, वही लेट उठने पर हमें समय की कमी लगने लगती है| चाहे आप स्टूडेंट्स हो, जॉब करते हो, आपका बिज़नेस है, आप एक हाउसवाइफ हो या फिर आप कुछ भी नहीं करते, सुबह जल्दी उठना लेट उठने के अपेक्षा अधिक लाभकारी होता है| आईये जानते है, कि सुबह 4 बजे जल्दी उठने की आदत कैसे डालें ?

1.सुबह उठने का एक समय निश्चित करे

यदि आप वास्तव में सुबह उठना चाहते है, तो सबसे पहले सुबह उठनें का समय निर्धारित करे|  अधिकांश लोग जोश में आकर रात को जल्दी सोने का और सुबह जल्दी उठने की प्लानिंग बनाते है और उनकी प्लानिंग एक दो दिन तो सही चलती है, उसके बाद बेकार चली जाती है| सुबह जल्दी उठना हो तो आपने यह सुना होगा की जल्दी सोये और जल्दी उठे| यदि आप सुबह 4 बजे उठना हो तो इस समय पर उठने के लिए अपने माइंड को पूरा तरह सेट कर ले| विद्यार्थी जीवन में हमें प्रतिदिन रात 10 से 4 बजे तक ही सोना चाहिए|

सुबह जल्दी उठने के लिए सबसे पहले हमारा समय सरणी का सही होना ज़रूरी है| बिना सही समय सारणी के हम कभी भी जल्दी उठने की आदत नही डाल सकते है| सभी काम के लिए यदि टाइम टेबल बना लिया जाये तो जल्दी उठने की आदत अपने आप पड़ जाएगी और सभी कार्य समयानुसार होने लगेंगे| किसी भी कार्य में सफलता के लिए समय सारणी का होना अति आवश्यक है| जैसे यदि आप एक छात्र हैं, तो अपने स्कूल और बाकि की गतिविधियों के अनुसार एक समय सरणी बनाएं और उसके अनुसार ही अपने दिनचर्या को फॉलो करें|

2.रात को सोंने से पहले अपने माइंड को नोटिफिकेशन दे

जब आप रात को सोने से पहले अपने माइंड में यह निर्धारित कर ले सुबह जल्दी उठना है, अथवा 4 बजे उठना है| ऐसा करने पर आपका माइंड आपकी नींद खुलने पर 4 बजे के आसपास उठा देगा| कुछ दिन तक भले ही माइंड 5 बजे के आसपास उठाये लेकिन कुछ दिनों में ही आपका टाइम फिक्स हो जायेगा और माइंड आपको सुबह जल्दी उठानें में सफल हो जाएगा| इसके साथ ही सुबह जल्दी उठनें क लिए पॉजिटिव माइंड सेट से सोये और सोचे की मैंने स्वयं को फिट रखने के लिए या खुद को और अधिक प्रोडक्टिव बनाने के लिए उठना है| यदि आपको जल्दी स्कूल जाना है या जॉब पर जाना है, तो उसके बारे में सोचे कि आप जल्दी उठेगे तो आपको बहुत आसानी होगी kisan ganna parchi

  1. सुबह उठने के फायदों पर दे ध्यान

यदि आप सुबह जल्दी उठना चाहते है, तो सुबह जल्दी उठने से मिलनें वाले फायदों के बारे में आपको सोचना चाहिए|  जितना अधिक आप सुबह जल्दी उठने के बारे में पढोगे, सुनोगे और सोचोगे उतना ही अधिक आपका दिमाग व मन आपके इस निर्णय में साथ देगा, क्योंकि यदि आपका मन इसके लिए तैयार नहीं हुआ तो आपको सुबह उठना मुश्किल लगने लगेगा, इसलिए सुबह जल्दी उठना है, तो सुबह जल्दी उठने के फायदों के बारे में अवश्य सोचे|

 

 

सुबह जल्दी उठने से हमारा शरीर स्वस्थ रहता है, इसके साथ-साथ हमारे पास पूरे दिन अधिक समय रहता है| हमें किसी पेंडिंग काम को करने के लिए उचित समय मिल जाता है, हम अधिक प्रोडक्टिव बन जाते है, दिन में बचे एक्स्ट्रा टाइम का उपयोग अपनी फॅमिली को टाइम देकर, दोस्तों के साथ या अपने खुद के एन्जॉय के लिए कर सकते है, इसलिए सुबह उठने के फायदे देखे और सुबह जल्दी उठना शुरू करे|

4.अलार्म घड़ी का करे प्रयोग   

यदि आप सुबह जल्दी उठने की आदत डालना चाहते है, तो शुरुआत में अलार्म का उपयोग करना पड़ेगा, क्योंकि किसी नये आदमी के लिए एक दम से नेचुरल तरीके से सुबह उठ पाना आसान नहीं होता, इसलिए इस स्थिति में अलार्म का उपयोग करना बेहतर होता है| आपको यदि सुबह 4 बजे उठना है, तो अपना टाइम फिक्स कर ले और इसी टाइम पर अलार्म लगा ले|   

कुछ दिन व्यतीत होनें के बाद आपका शरीर सुबह उठने के आपके टाइम के साथ एडजस्ट कर लेगा और जैसी ही आप प्रतिदिन सुबह निर्धारित समय पर उठना शुर कर देते है, तो उसके बाद आप अलार्म का प्रयोग नहीं करना पड़ेगा, और आपके लिए सुबह उठना मुश्किल नहीं होगा| परन्तु जब तक आपकी स्वयं सुबह टाइम पर उठने की आदत नहीं बन जाती, तब तक आप अलार्म का उपयोग अवश्य करे|

5.सुबह उठने के लिए रहे उत्साहित

सुबह जल्दी उठने के लिए आदत बनानें के लिए स्वयं के अंदर उत्साह होना जरुरी हो जाता है| सुबह उठना एक अच्छी आदत है और अगर आप सुबह जल्दी उठते हो तो यह आपके व्यक्तित्व के लिए सबसे अच्छा है| आपको सोचना चाहिए कि आपकी एक बुरी आदत आपकी लाइफ से जा रही है और एक बहुत ही अच्छी आदत को आप अपना रहे है|  इस तरह से आप सुबह जल्दी उठने के लिए अन्दर से उर्जावान होंगे तो आपको सुबह जल्दी उठने से कोई नहीं रोक पाएगा और आप सफल होगे|  

 6.असफल होनें पर कारण खोजे 

हम कई बार जब हम सुबह जल्दी उठने की सोचते है, तो बार – बार प्रयास करने पर भी हम असफल हो जाते है| यदि हम सुबह 4 बजे उठना चाहते है, तो दो दिन तक 4 बजे उठने के बाद तीसरे दिन हम फिर से पुराने रूटीन पर आ जाते है| यदि आपके साथ भी ऐसा ही हुआ है, तो उस समय यह नोट कर ले की शायद आप सुबह जल्दी उठने के लिए अंदर से पूरी तरह से तैयार न हो| इसके कई कारण हो सकते है|

कई बार कोशिश करने के बाद भी आप सुबह उठनें में सफल नही होते है, तो सबसे पहले उन कारणों को ढूंढे जिनकी वजह से  आप सुबह नहीं उठ पा रहे है|  सुबह उठने में आप अगर असफल हो रहे हो, तो अपनी कमियों को दूर करनें का दृढ संकल्प ले,   और उनको धीरे – धीरे दूर कर दे| इस तरह आप देखेंगे कि कुछ समय बाद आप प्रतिदिन एक निश्चित समय पर सुबह जल्दी उठना शुरू कर देंगे|

सुबह जल्दी उठनें से लाभ

'अर्ली टू बेड और अर्ली टू राइज़ मेक्स अ पर्सन हेल्दी, वेल्दी ऐंड वाइज़.' अंग्रेज़ी की यह कहावत काफी पुरानी है| इसका मतलब है, कि सुबह जल्दी उठना बहुत लाभकारी होता है| सुबह उठनें की यह आदत आपको सेहतमंद, दौलतमंद और बुद्धिमान बनाती है| ऐसा माना जाता है, कि सुबह सूर्योदय देखने वाले व्यक्ति बेहद खुश रहते हैं। बड़े-बुजुर्गों नें यह पूरे अनुभव के साथ कहा है। सुबह जल्दी उठनें से आप न सिर्फ स्वस्थ रहते हैं, बल्कि दिनभर एक्टिव भी रहते है, और हर काम में अपना 100 प्रतिशत देते हैं। यदि आपको देर से उठने की आदत है, तो सुबह आरामदायक बिस्तर छोड़ना बहुत मुश्किल हो जाता है, लेकिन अभी भी देर नहीं हुई है। एकबार सुबह सूर्योदय देख लें, एक कप कॉफी पी लेंगे और जल्दी उठने के फायदे जान लेंगे तो शायद कभी देर से नहीं उठेंगे।

1.शरीर में आलस्य नही रहता

जर्मनी के यूनिवर्सिटी ऑफ एजुकेशन के हीडलबर्ग में जीवविज्ञान के प्रोफेसर क्रिस्टोफर रैंडलर का कहना है, कि सुबह जल्दी उठना मस्तिष्क के कार्य करने की क्षमता को बढ़ाता है।  सुबह उठने वाले लोगों में सोचने की क्षमता और समस्या को सुलझाने की कला बेहतर होती है। ऐसे लोग रचनात्मक अधिक होते हैं, इनकी एकाग्रता और याददाश्त भी बेहतर होती है।

2.प्राकृतिक पोषण का लाभ

सुबह जल्दी उठनें से हमें प्राकृतिक पोषण भी प्राप्त होता है, क्योंकि सुबह के शुरुआती घंटे हमें प्राकृतिक पोषण प्रदान करते हैं। सुबह जल्दी उठकर आप अपनी बालकनी में योग या आस पास के पार्क में टहलने जैसी आसान आदत से इसकी शुरुआत कर सकते हैं।

3.नाश्ता करने का भरपूर समय

सुबह जल्दी उठने से सबसे बड़ा लाभ यह होता है, कि आपको आराम से नाश्ता करने का भरपूर समय मिलता है, और नाश्ता कभी छूटता नहीं है, जबकि देर से उठनें वाले लोग ठीक से नाश्ता नहीं कर पाते है| डॉक्टर हमेशा कहते हैं, कि स्वस्थ रहना है तो भले थोड़ा ही खाओ लेकिन सुबह का आहार कभी छूटना नहीं चाहिए।

4.आन्तरिक शांति का अनुभव

सुबह जल्दी उठाने की सबसे खास बात यह है, कि आप भागदौड़ भरी जिंदगी शुरू होने से पहले ही अपनी सुबह की शुरुआत कर देते हैं, आपका प्रत्येक कार्य पूरे मनोयोग से होता है । शांति में समय बिताने से मस्तिष्क में ऑक्सीजन का स्तर बढ़ता है, रक्तचाप कम होता है और मानसिक स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

5.सभी कार्य नियमबद्ध होते है  

सुबह के शुरुआती घंटे हमें (ऑर्गेनाइज्ड) नियमबद्ध होने का समय देते हैं। अपने पूरे दिन की योजना बनाने के लिए उस समय का उपयोग हर चिंता को कम करता है।

6.हैप्पी हार्मोन्स

सुबह जल्दी उठकर किसी भी तरह की फिजिकल एक्टिविटी करते हैं, तो इससे आपके अन्दर हैप्पी हार्मोन्स रिलीज होते हैं। इस तरह आप फिट तो रहते हैं, साथ ही आप पूरा दिन स्वयं को काफी ऊर्जावान और अच्छा महसूस करते हैं। इस तरह अपने आंतरिक और बाह्य स्वास्थ्य को बेहतर बनाये रखने के लिए आप सुबह उठने की आदत डालें।

7.जीवन में सफलता

वैज्ञानिको द्वारा की गयी बहुत सी रिसर्च इस बात को सिद्ध करती हैं, कि जो लोग सुबह जल्दी उठने की आदत डालते हैं, वह  जीवन में अधिक सफल होते है, और जितने भी लोगों ने जीवन में सफलता प्राप्त की है, उन्होंने अपनी अच्छी आदतों मे सुबह उठने की आदत को भी शामिल किया है। दरअसल, जल्दी उठने के कारण आपका शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य तो बेहतर होता है ही, साथ ही आपकी नींद की क्वालिटी बेहतर होने और प्रॉडक्टिविटी बढ़ने के कारण आपके जीवन में सफलता की राह काफी आसान हो जाती है। ऐसे लोग सही समय पर उचित निर्णय लेते हैं, और जीवन में आगे बढ़ते चले जाते हैं।

8.इन बीमारियों से मिलेगी निजात

यदि आप लम्बे समय तक जीना चाहते हैं, और मानसिक तनाव से दूर रहना चाहते हैं, तो आज से ही रात को जल्दी सोना शुरु कर दें। देर रात तक जागने वाले लोग डायबीटीज, पेट और सांस की तकलीफ, मानसिक विकार, कम नींद की समस्या से परेशान होते हैं। साथ ही ये लोग धूम्रपान, शराब, कॉफी और ड्रग्स का सेवन भी अधिक करते हैं। जिस वजह से इन्हें बहुत सी प्रॉब्लमस का सामना करना पड़ता है। सुबह जल्दी उठनें वाले लोग रात में अधिक देर तक नही जगते है, क्योंकि उन्हें सुबह उठाना होता है| इस प्रकार वह इन बीमारियों से बचनें में सफल रहते है|

9.जीवन में स्थिरता

सुबह जल्दी उठने से हमारी जीवनशैली पर अच्छा प्रभाव पड़ता है, और जीवन में स्थिरता आती है | प्रातः उठने से हमारी सोचने की क्षमता में वृद्धि होनें के साथ ही पूरा दिन सकारत्मकता से भरा रहता है,जिससे हमारे जीवन में स्थिरता बनी रहती है |

10.सुबह उठना प्रभावकारी

मोटिवेशनल गुरु रोबिन शर्मा के अनुसार सुबह का समय बेहद कीमती होता है। इस समय हमारे आस-पास डिस्टर्ब करने वाली चीजें नहीं होतीं और हम सभी इस आदत को अपना सकते हैं। सुबह जल्दी सोकर उठने के बाद दिन की शुरुआत भी जल्दी होती है। अलार्म बजने के बाद बिस्तर पर ही बने न रहें, बिस्तर से बाहर आएं। सुबह 4 बजे उठने से मुश्किल चीजें भी आसान लगती हैं। इसके माध्यम से हम लोगों को पराजित कर सकते हैं।